Sat. Feb 24th, 2024

Phone Bhoot Horror & Comedy Movie Review in Hindi

हॉरर फिल्मो का फेन हर घर में होते हैं लेकिन पूरा घर साथ में मिलकर सिर्फ कॉमेडी देख पता हैलेकिन लेकिन अगर यह दोनों साथ मिल जाए तो आज से 14 साल पीछे 2008 में रिलीज हुई थी भूतनाथ हम लोग बच्चे थे और फ़िल्म में डरके खूब हंसाया था लेकिन आज यदि सोचते है तो यही लगता है ना क्या बच्चों वाली फ़िल्म थी वह तो हीरा कोहिनूर वाला घटिया मजाक तो आज वह मेरे साथ ऐसी फ़िल्म जिसको बच्चे भी देखना पसंद नहीं करेंगे.

Phone Bhoot फ़ोन भूत उस कहावत को सच कर देती है जिसमें लिखा था नाम बड़े और दर्शन छोटे कैटरीना कैफ Katrina Kaif इनके साथ लोगो का पर्सनल रिश्ता है लोग इनकी खुशी में अपनी खुशी ढूंढ लेते हैं मैं भी उनमें से एक हूं लेकिन आज मैडम ने जो किया है उसके बाद मैं तो भैया इसमें से ब्रेकअप करता हूं.

कहानी

कहानी खतरनाक आइडिया से शुरू होती है जिसमें 3 लोग एक साथ मिलकर भूत पकड़ने का बिज़नेस शुरू करते हैं लेकिन भूत होते हैं क्या सच में इस सवाल का जवाब कौन देगा अरे मिल तो गया ना ऊपर आप भी धोखा खा गए 3 बिज़नेस पार्टनर सबसे सुंदर वाली खुद भूतनी है वह भी भटकती आत्मा वाली कैटेगरी की खूंखार भूत क्या है कहानी आगे क्यों नहीं बढ़ती.

क्योंकि भूत को भी किसी से डर लगता है साहब शैतान से बड़ा शैतान इंसान इनसे मिलिए तांत्रिक शक्ति जिंदाबाद भाई साहब के पास टैलेंट है आत्मा को कैद करके अपनी मर्जी का कोई भी मिशन कम्पलीट करवाने का लेकिन अचानक से बदलता है जज्बात बदल जाते हैं जब यह खुलासा होता है कि तांत्रिक और भूतनी दोनों में पहले से अंजान रिश्ता है किसने किसको को धोखा दिया भूत ने इंसान को या इंसान ने भूत को देखो सबसे पहले बता देते है कि इस मूवी के टाइटल में भूत लिखा होने की वजह से फ़िल्म देखने मत पहुँच जाना हॉरर और डर का इस फ़िल्म से दूर-दूर तक कोई लेना-देना नहीं है एक सेकेंड के लिए भी आपके दिल की धड़कन नॉर्मल से अब नॉर्मल नहीं होगी.

याद आया हॉस्पिटल में इसको देखा है आपने इंसान की धड़कन के साथ धड़कन के साथ में कोई होटल सरप्राइज नहीं कोई हॉरर सीन नहीं टोटल फ्लाइट हां कॉमेडी के नाम पर कुछ कुछ डायलॉग थोड़ा फनी लग सकते हैं स्मार्ट कॉमेडी की कोशिश जरूर की गई है लेकिन उसे एक दो बार लैंड करती है एक्चुअली जैकी श्रॉफ कहने के लिए उनके विलन है उल्टा वह तो फोन पर हूमर डालते हैं इनकी बातों पर हंसी जरूर आएगी रियल लाइफ डायलॉग भी है मौसी जी की तारीफ में लेकिन एकदम क्लियर नहीं है देखने के लिए ऐसी नहीं है जिसे देखने के लिए आपको थिएटर जाना चाहिए वगैरह कुछ भी नहीं नहीं है मस्तानी है बचकानी टाइप की है और अब तो वैसे भी गुमशुदा है हां कॉमेडी है वह तो व्हाट्सएप जोक्स में भी मिल जाएगी आपको सबसे ज्यादा दुखी किया खुद कैटरीना कैफ ने ऐसा फुल सिलेक्शन जाकर इनका तो भैया लंबे टाइम की फिल्में ज्यादा नहीं आने वाली करियर पर फुल टॉप लग जाएगा.

phone bhoot rating

सूर्यवंशी में भी उन्होंने आइटम सांग किया था वहां भी रोल में दम नहीं था यहां भी टाइम पास चल रहा है बिल्कुल भी सीरियस एक्टिंग नहीं की है फेन्स को हल्के में लेंगे या फेन्स आपको हल्का कर देंगे सिद्धांत और ईशान ने तो मिशन बना लिया था भैया फिल्म में एक्टिंग को ओवरएक्टिंग में बदलने का टैलेंट बहुत है इस बात में कोई शक नहीं है लेकिन ओवर कॉन्फिडेंस अच्छे-अच्छे को बर्बाद कर देता है तो भैया मेरी तरफ से उसको मिलेगा फ़ोन भूत को मिलेगा पांच में से 1 स्टार वह भी वह भी कुछ फनी हूमर वाले फनी सींस को रियल लाइफ से उठाकर सिनेमा में चालाकी से यूज करने के लिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *